EyeMantra Logo

भेंगापन/स्ट्रैबिस्मस क्या है? Bhengapan/Strabismus Kya Hai?

भेंगापन, जिसे “स्ट्रैबिस्मस” भी कहा जाता है, एक ऐसी स्थिति है जिसमें दोनों आंखें आपस में ठीक से संरेखित (Align) नहीं कर पाती हैं। एक आंख अंदर, ऊपर, नीचे या बाहर की ओर मुड़ जाती है, जबकि दूसरी एक बिंदु पर फोकस करती है। ऐसा हर समय या नियमित अंतराल पर भी हो सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आंख और पलक की मूवमेंट को कंट्रोल करने वाली मसल्स (जिसे एक्स्ट्राओक्युलर मांसपेशियां कहा जाता है) एक साथ काम नहीं कर रही होती हैं।

नतीजतन, दोनों आंखें एक ही टाइम पर एक ही पॉइंट पर फोकस करने में फेल हो जाती हैं।

भेंगापन के लक्षण – Bhengapan Ke Lakshan

Eye fatigue. (2)
आंखों में थकान होना।
Blurred Vision
डबल विज़न हो जाना।
Fluctuating vision
ओवरलैप और ब्लर्ड इमेज दिखाई देना।
A pulling sensation around the eyes.
आंखों के चारों तरफ खींचाव और सनसनाहट होना।
Reading difficulty.
पढ़ने में मुश्किल होना।
Loss of depth perception.
डेप्थ परसेप्शन को नुकसान पहुँचना।

भेंगापन के कारण – Bhengapan Ke Kaaran

भेंगापन के कोई ठोस कारण नहीं हैं। फिर भी भेंगापन के मामलों के एक छोटे से हिस्से को निम्नलिखित कारणों से जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, जैसे-

Hereditary (2)
अनुवांशिक (Hereditary)
Stroke
स्ट्रोक (Stroke)
Uncorrected refractive errors.
अनकरेक्टेड रिफरैक्टिव एरर्स (Uncorrected Refractive Errors)
Head injuries
सिर की चोटें (Head injuries)
Minimize Glare
एक आंख में खराब दृष्टि (Poor Vision in one Eye)
Neurological (nervous system) problems.
न्यूरोलॉजिकल प्रॉब्लम (Neurological problems)
cerebral palsy
Cerebral Plasy
Graves’ disease
ग्रेवस रोग (Graves’ disease)
Hydrocephalus
हायड्रोसिफैलस (Hydrocephalus)
Infections.
इनफैक्शन (Infections)
Brain tumors.
ब्रेन ट्यूमर (Brain tumors)
longsight
Long Sightedness

भेंगापन के प्रकार – Bhengapan Ke Prakaar

आंख किस डायरेक्शन में मूव करती हैं, उसके आधार पर भेंगापन (Squint) को केटेगराइज़ किया जाता है:

एसोट्रोपिया (Esotropia):

जब आंख अंदर की ओर मुड़ती है या नाक की ओर मुड़ जाती है।

एक्सोट्रोपिया (Exotropia)

जब आंख बाहर की ओर मुड़ती है

हाइपरट्रोपिया (Hypertropia):

जब आंख ऊपर की ओर मुड़ जाती है। इस स्थिति में एक आंख दूसरी आंख से ऊंची होती है।

हाइपोट्रोपिया (Hypotropia):

जब आंख नीचे की ओर मुड़ जाती है। इस स्थिति में एक आंख दूसरी आंख से नीची होती है।

भेंगापन उपचार विकल्प – Bhengapan Upchar Vikalp

चश्मा या कॉन्टैक्ट लेंस (Eyeglasses or contact lenses)

इनका उपयोग अनकरेक्टेड रिफरैक्टिव एरर्स वाले लोगों द्वारा किया जाता है। रेमेडियल लेंस से आंखों को फोकस करने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती और वह सीधी रह सकती हैं।

प्रिज़्म लेंस (Prism lenses)

ये स्पेशल लेंस हैं जो लाइट को मोड़ने और आंख में प्रवेश करने में मदद करते हैं और वस्तुओं को देखने के लिए आंख को मोड़ने की मात्रा को कम करने में मदद करते हैं।

आर्थोपेडिक्स – स्क्विंट आई एक्सरसाइज़ (Orthoptics – Squint eye exercises)

यह कुछ प्रकार के स्ट्रैबिस्मस पर काम कर सकता है, विशेष रूप से कनवर्जेन्स इनसफिशियंसी (एक्सोट्रोपिया का एक रूप)।

दवाएं (Medications)

आई ड्रॉप और ऑइंटमेंट्स। इसके अलावा बोट्युलिनम टॉक्सिन टाइप ए (जैसे बोटॉक्स) के इंजेक्शन एक ओवरएक्टिव आई मसल्स को कमजोर कर सकते हैं। मरीज़ की स्थिति के आधार पर इन उपचारों का उपयोग सर्जरी के साथ या सर्जरी के विकल्प के रूप में किया जा सकता है।

पैचिंग (Patching)

एंबीलिया (लैज़ी आई) का इलाज करने के लिए जब मरीज़ एक ही समय में एंबीलिया और स्ट्रैबिस्मस दोनों से पीड़ित हो। दृष्टि में सुधार भी आंख के गलत संरेखण (misalignment) को कंट्रोल कर सकता है।

आंखों की मांसपेशियों की सर्जरी (Eye Muscle Surgery)

सर्जरी आंखों की मांसपेशियों की लंबाई या आकार को बदल देती है ताकि आंखें ठीक से संरेखित (Aligned) हो जाएं। यह जनरल एनस्थिसिया के अंडर स्टिचिस के साथ की जाती है जो समय के साथ डिज़ोल्व हो जाते हैं। कभी-कभी एडल्ट्स को एडजस्टेबल स्ट्रैबिस्मस सर्जरी प्रोवाइड की जाती है, जहां सर्जरी के बाद आंख की मांसपेशियों की पोजिशन को एडजस्ट किया जाता है।

भेंगापन उपचार एक्सरसाइज़ – Bhengapan Upchar Exercises

पेंसिल पुश-अप्स (Pencil Push-Ups)

पेंसिल पुश-अप्स ओक्युलर प्रोग्रेस के लिए सरल वर्कआउट हैं जो दोनों आंखों को एक ही निश्चित बिंदु पर निर्देशित करते हैं।

अपने से दूर की ओर पॉइंट करते हुए, एक पेंसिल को हाथ की लंबाई में पकड़ें। अपनी दृष्टि को इरेज़र या किनारे पर एक अक्षर/अंक पर केंद्रित करें। पेंसिल को धीरे-धीरे नाक के ब्रिज के करीब लाएं। जब तक आप कर सकते हैं इसे ध्यान में रखें, लेकिन जब आपकी दृष्टि धुंधली हो जाए तो आपको इसे रोकना होगा।

ब्रॉक स्ट्रिंग (Brock String)

आपके पास तीन अलग-अलग रंग के मोतियों के साथ 5 फीट लंबी स्ट्रिंग होनी चाहिए। स्ट्रींग के एक सिरे को एक निश्चित बिंदु जैसे रेलिंग या कुर्सी के पीछे सुरक्षित करें। मोतियों को समान दूरी पर रखें। स्ट्रींग के दूसरे सिरे को अपनी नाक के पास मजबूती से पकड़े रहें। जब आप अपना फोकस मोती से मोती पर शिफ्ट करते हैं तो आपको एक कॉन्सिस्ट पैटर्न पर ध्यान देना चाहिए। आप जिस मोती को देख रहे हों वह दो समान स्ट्रींग्स के कनवर्जेन्स पर अन्य मोतियों के डबल के साथ एक एक्स का निर्माण करते हुए दिखाई देगा। यदि आप मोती के सामने या अंदर स्ट्रींग को पार करते हुए देखते हैं, तो आपकी आंखें मोती पर ठीक से फोकस नहीं होती हैं। सुनिश्चित करें कि आप सभी मोतियों पर एक्स प्राप्त कर रहे हैं (दूर छोर पर एक को छोड़कर, जिसमें वी में केवल दो तार आपके सामने आएंगे)।

बैरल कार्ड्स (Barrel Cards)

एक्सोट्रोपिया के लिए यह एक आसान एक्सरसाइज़ है। एक कार्ड के एक तरफ बढ़ती हुई लंबाई में तीन रेड बैरल ड्रा करें। दूसरी तरफ हरे रंग में भी ऐसा ही करें।

कार्ड को लंबाई में और वर्टिकली अपनी नाक के सामने इस तरह पकड़ें कि सबसे बड़ा बैरल सबसे दूर हो। दूर बैरल को तब तक देखें जब तक कि यह दोनों रंगों वाली एक छवि न बन जाए और अन्य दो बैरल छवियां दोगुनी न हो जाएं। लगभग पांच सेकंड के लिए अपना फोकस बनाए रखें। फिर मीडियम और सबसे छोटी बैरल छवियों के साथ भी ऐसा ही करें।

भेंगापन सर्जरी – Bhengapan Surgery

इसे आंखों की मांसपेशियों की सर्जरी भी कहा जाता है, एरर्स की इंटेंसिटी के आधार पर स्क्विंट सर्जरी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अलग-अलग होती है। आंखों को संरेखित करने के लिए डॉक्टर सर्जरी करते हैं। उचित तरीके से किया गया संरेखण (Alignment) भेंगापन के लक्षणों को कम करता है जो दोहरी दृष्टि, आंखों की थकान और आंखों में खिंचाव हैं। स्ट्रैबिस्मस सर्जरी के दौरान सर्जन आंख के कंजंक्टिवा (सफेद भाग) में एक छोटा चीरा लगाता है। फिर आंखों में छोटे उपकरण डाले जाते हैं जो आंखों की मांसपेशियों को फिर से संगठित करने में मदद करते हैं। बेहतर रियलएलाइंजमेंट के लिए आंख की मांसपेशियों को छोटा किया जाता है और फिर चीरा बंद कर दिया जाता है। सर्जरी दोनों आंखों के बीच के रिलेशनशिप को ठीक करती है।

Squint

भेंगापन सर्जरी की प्रक्रिया – Bhengapan Surgery Ki Prakriya

स्क्विंट सर्जरी एक सुरक्षित प्रक्रिया है और इसे आउट पेशेंट के आधार पर किया जा सकता है। इसका मतलब है कि आप उसी दिन घर वापस जा सकते हैं। सर्जरी में आमतौर पर मांसपेशियों की संख्या के आधार पर 2 से 3 घंटे लगते हैं जिन्हें एडजस्ट करने की आवश्यकता होती है। एक मरीज़ जिसे भेंगापन सर्जरी की आवश्यकता होती है, उसे सर्जरी में दो प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ता है:

  • पहला है आंख की मांसपेशियों को अलग करना और,
  • दूसरा है आवश्यकतानुसार मांसपेशियों को ढीला या टाइट करना।
  • इसके बाद मांसपेशियों को कुछ घुलनशील ऊतकों (Dissolvable Tissues) के साथ सिला जाता है। मेडिकल टर्म में दो प्रोसेस को “रिसेशन (Recession)” और “रिसेक्शन (Resection)” कहा जाता है।

भेंगापन सर्जरी की कीमत – Bhengapan Surgery Ki Keemat

स्क्विंट सर्जरी की कीमत मुख्य रूप से उन मांसपेशियों की संख्या पर निर्भर करती है जिन्हें ऑपरेट करने की ज़रूरत होती है। उदाहरण के लिए यदि आपका भेंगापन बहुत मजबूत है, तो एक से अधिक मांसपेशियों को एडजस्ट करने की आवश्यकता हो सकती है और इससे सर्जरी की कीमत बढ़ जाती है। भारत में टॉप आंखों के हॉस्पिटल में भेंगापन सर्जरी/उपचार की अनुमानित कीमत नीचे दी गई है:

उपचारकीमत (₹)

स्क्विंट चेक-अप (Squint Check Up)

500- 1000

स्क्विंट ऑर्थोटिक एक्सरसाइज़ (Squint Orthoptic Exercises)

1000-1500

स्क्विंट सर्जरी एक मांसपेशियों के लिए (Squint Surgery for 1 Muscles)

20000-25000

स्क्विंट सर्जरी दो मांसपेशियों के लिए (Squint Surgery for 2 Muscles)

25000-30000

स्क्विंट सर्जरी तीन मांसपेशियों के लिए (Squint Surgery for 3 Muscles)

30000-35000

आईमंत्रा फाउंडेशन “समाज के वंचितों वर्गों” के लिए मुफ्त भेंगापन सर्जरी प्रदान करता है। कोई भी जो इलाज का खर्च वहन करने में असमर्थ है, हमारे हॉस्पिटल आ सकता है और भेंगापन सर्जरी फ्री में या फिर बहुत कम कीमत में करवा सकता है।

भेंगापन उपचार के लिए बेस्ट आई हॉप्सिटल्स – Bhengapan Upchar Ke Liye Best Eye Hospitals

भारत में मोतियाबिंद सर्जरी के लिए सबसे अच्छे नेत्र अस्पतालों में से एक है जैसे एम्स, शंकरा नेत्रालय, एलवीपीईआई और आईमंत्रा। आईमंत्रा (Eye Mantra) स्क्विंट उपचार में सबसे आगे है, जिसके डॉक्टरों द्वारा अब तक 10,000 से अधिक आंखों का ऑपरेशन किया जा चुका है।

अगर हम डॉक्टरों के प्रशिक्षण अनुभव और प्रौद्योगिकी तक पहुंच के साथ-साथ मरीज़ की देखभाल और पहुंच में आसानी के संदर्भ में सभी उपचार सुविधाओं का निष्पक्ष मूल्यांकन करते हैं, तो आईमंत्रा स्क्विंट के इलाज के लिए सबसे अच्छे अस्पतालों में से एक है।

विशेष दृष्टिकोण के साथ लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के बाद सबसे अधिक लाभकारी परिणाम मिलते हैं।

नाइजीरिया और उसके शहरों में हमारे टॉप मोतियाबिंद सर्जनों द्वारा भेंगापन की सर्जरी की जा चुकी है। आज ही हमारे एक्सपर्ट स्क्विंट आई डॉक्टर्स से परामर्श लें।

भेंगापन डॉक्टर्स - Squint Doctors

भेंगापन सुविधाएं - Squint Facilities

पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

भेंगापन या स्ट्रैबिस्मस एक ऐसी स्थिति है जिसमें आंखें ठीक से संरेखित नहीं होती हैं। एक आंख अंदर की ओर, ऊपर की ओर, नीचे की ओर या बाहर की ओर मुड़ती है, जबकि दूसरी किसी अन्य दिशा में मुड़ जाती है।

स्क्विंट का इलाज निम्नलिखित तरीके से किया जा सकता है:

  • चश्मा
  • पैचिंग थेरेपी
  • सर्जरी

बच्चे या तो भेंगापन के साथ पैदा होते हैं या वे इसे बचपन में ही विकसित कर लेते हैं। ज़्यादातर बच्चे 1 से 4 साल की आयु के बीच और रेयर केस में 6 साल की आयु तक इस स्थिति को विकसित करते हैं। नवजात शिशु की आंखों में भेंगापन की उपस्थिति का पता लगाना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस तथ्य के कारण कि अपने शुरुआती वर्षों में उनकी आंखें क्रॉस करती हैं और भटकती हैं।

हालांकि ध्यान देने वाली एक महत्वपूर्ण बात यह है कि उनकी आंखें 4 से 6 महीने तक सीधी हो जाएं। कभी-कभी स्क्विंटिंग की उपस्थिति का पता लगाना बहुत आसान होता है, क्योंकि आंखें बहुत अलग दिशाओं में पॉइंट करती हैं। इसके अलावा जब बच्चे किसी नज़दीकी चीज़ पर फोकस करते हैं, तो आप एक तिरछी आँख की उपस्थिति को भी देख सकते हैं, उदाहरण के लिए, कोई निर्जीव वस्तु जैसे कोई खिलौना या पज़ल।

आंखों के भेंगापन असुविधा पैदा करता है, जिसमें कभी-कभी दोहरी दृष्टि या धुंधली दृष्टि शामिल होती है लेकिन बच्चे भेंगापन की उपस्थिति को नहीं समझ सकते हैं।

भेंगापन सर्जरी के दौरान आपका सर्जन सॉकेट नहीं निकालता है, इसके बजाय वह मांसपेशियों को नई स्थिति में जोड़ने के लिए उन्हें टांके लगाता है। आंखों की उपस्थिति में सुधार के लिए करैक्टिव सर्जरी के ऑप्शन को प्राथमिकता दी जाती है।

हर सर्जरी के अपने रिस्क होते हैं। इसलिए स्क्विंट सर्जरी कराएं। हालांकि भेंगापन सर्जरी में रिस्क की संभावना बहुत कम होती है। रिस्क में शामिल हो सकते हैं:

  • एंडोफथालमिटिस (Endophthalmitis) आई बॉल में इनफैक्शन
  • रेटिनल डिटेचमेंट (Retinal Detachment)

ज़्यादातर स्क्विंट सर्जरी में लगभग 30 से 70 मिनट का समय लगता है।

इन मामलों में दर्द हर मामले में अलग-अलग होता है। हालांकि दर्द काफी मध्यम होता है जिसके लिए आपके डॉक्टर दवा उपलब्ध कराते हैं। आमतौर पर स्थिति कुछ घंटों में सुधर जाती है। लेकिन कुछ स्थितियों में कुछ दिन भी लग सकते हैं, जो कि सामान्य है।

हां, अलाइंजमेंट रिस्टोरिंग करने के लिए चश्मे आते हैं लेकिन इसमें महीनों लग सकते हैं। इसके अलावा अगर यह काम नहीं कर रहा है, तो आपको इसके साथ आईड्रॉप या आईपैच आज़माने के लिए भी कहा जा सकता है।

हां, आईमंत्रा में ऑनलाइन/ऑफलाइन सर्जन आपकी भेंगापन समस्या के लिए सर्जिकल ऑप्शन के संबंध में परामर्श और सलाह प्रदान कर सकते हैं। आपका सर्जन आपकी आंखों की समस्या के लिए सबसे वायबल ऑप्शन तय करने में आपकी मदद करेंगे। यदि सर्जरी एक प्रेफर्ड ऑप्शन के रूप में सामने आती है, तो वह आपको सर्जरी के लिए खुद को तैयार करने के लिए गाइड करेंगे।

भारत में कई अच्छे स्क्विंट सर्जन हैं। आईमंत्रा में कुछ टॉप स्क्विंट डॉक्टर/सर्जन हैं। डॉक्टर श्वेता जैन भारत में सबसे अच्छे स्क्विंट सर्जनों में से एक हैं। डॉक्टर श्वेता जैन ने अब तक 1000 से अधिक स्क्विंट सर्जरी सफलतापूर्वक की हैं। आईमंत्रा स्क्विंट सर्जरी प्रोग्राम के परिणाम कई लोगों के लिए बेहतर साबित होते हैं। भेंगापन सर्जरी के बाद कई मरीजों को बेहतर उपस्थिति का अनुभव होता है।

भेंगापन सर्जरी के कई फायदे हैं जिनमें शामिल हैं:

  • बेहतर उपस्थिति (Improved appearance)
  • बढ़ी हुई पेरिफेरल (साइड) विज़न (Increased peripheral (side) vision)
  • बेहतर डेप्थ परसेप्शन (Improved depth perception)
  • लेज़ी आई की स्थिति में सुधार (Improved lazy eye condition)

हमसे संपर्क करें

पश्चिम विहार

ए1/10, ए1 ब्लॉक, ब्लॉक ए, पश्चिम विहार, वेस्ट दिल्ली-110063

रोहिणी

बी62 – प्रशांत विहार, रोहिणी सेक्टर-14, सीआरपीएफ स्कूल के सामने, नॉर्थ दिल्ली

मो. नंबर: +91-9711115191
ईमेल: eyemantra1@gmail.com

Make An Appointment

  • This field is for validation purposes and should be left unchanged.