आंखों की देखभाल के घरेलू उपचार – Aankhon Ki Dekhbhal Ke Gharelu Upchar

Top 10 eye care home remedies

आंखों की देखभाल कैसे करें? Aankhon Ki Dekhbhal Kaise Karein? 

आंखों की समस्या आज के समय में एक आम बात होती जा रही है। स्मार्टफोन और कंप्यूटर स्क्रीन के बढ़ते रिस्क के साथ लोगों को दृष्टि संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। यहां तक ​​कि बच्चों को भी लंबे समय तक टेलीविजन देखने के कारण दृष्टि संबंधी समस्याएं होने का खतरा ज़्यादा होता है।

अपनी आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रखना इस बात पर निर्भर करता है कि हम इन सबको कैसे कम करते हैं और स्वाभाविक रूप से अपनी आंखों की अच्छी देखभाल करते हैं। सूखापन, सूजन और आंखों की गंभीर समस्या पैदा करने में हमारी जीवनशैली के विकल्प प्रमुख भूमिका निभाते हैं। कुछ सकारात्मक बदलाव लाने और घरेलू उपचारों का उपयोग करने से आंखों के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद मिल सकती है।

eye care

आंखों की देखभाल के लिए 12 घरेलू उपाय – Aankhon Ki Dekhbhal Ke Liye 12 Gharelu Upay 

आंखों की देखभाल (Eye Care) के लिए कुछ घरेलू उपाय निम्नलिखित हैं, जिनकी मदद से आप अपनी आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रख सकते हैं, जैसे-

रोज़ अपनी आंखें धोएं

eye muscle

नियमित रूप से अपनी आंखें धोने से धूल और गंदगी को हटाने में मदद मिलेगी, नहीं तो गंदगी जम जाती है और जलन और लालपन का कारण बनती है। ध्यान रखें कि आप सीधे आंखों पर पानी के छींटे न डालें, इसके बजाय घर पर ही त्रिदोषिक आईवॉश तैयार करें। इसे बनाने के लिए त्रिफला चूर्ण को पानी में भिगोकर रात भर के लिए छोड़ दें। सुबह इस तरल को छान लें और दिन में दो बार अपनी आंखों को धोएं। यह सबसे प्रभावी आंखों की देखभाल के घरेलू उपचारों में से एक है जो आंखों में तनाव को दूर करने और राहत देने में मदद करता है, जिससे आप पूरे दिन एनर्जेटिक महसूस करते हैं।

आंखों की मांसपेशियों को उत्तेजित रखें

यह एक सरल प्रक्रिया है जिसे सुबह ही करना चाहिए। इसमें आपके मुंह में पानी भरना और आंखों पर ठंडे पानी के छींटे डालना शामिल है। आपके मुंह में भरा पानी दबाव डालता है और आंखों की मांसपेशियों को उत्तेजित करने में मदद करता है। इसके अलावा आपके चेहरे पर ठंडे पानी के छींटे नर्व एंड्स को उत्तेजित करने और स्किन को फिर से जीवंत करने में मदद करते हैं। आंखों की मांसपेशियों को उत्तेजित करना उन आंखों की देखभाल के घरेलू उपचारों में से एक है जो दृष्टि को मजबूत करने में मदद करता है, जिससे भविष्य में आंखों की समस्या होने की संभावना कम हो जाती है।

दृष्टि सुधार एक्सरसाइज़ करें 

eyesight improvement

आंखों की एक्सरसाइज़ आसान होती हैं जिनमें आईबॉल्स को बाएं से दाएं घुमाना शामिल होता है, इसके बाद ऊपर और नीचे की गति होती है। इस अभ्यास को लगातार तीन से चार बार घड़ी की सूई की दिशा में और इसके विपरीत दिशा दोहराएं। यह उन आंखों की देखभाल के घरेलू उपचारों में से एक है जिसे आपकी आंखों की रोशनी में सुधार के लिए रोजाना कम से कम एक बार किया जाना चाहिए। बच्चों को दृष्टि कम होने और चश्मा पहनने से बचने के लिए रोजाना इस एक्सरसाइज़ को करने की आदत को अपनाना चाहिए। 

अपनी आंखों को पूरा आराम दें

यह टेकनिक आंखों की देखभाल के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचारों में से एक है जिसका अभ्यास उम्र के लिए किया जाता है जहां एक व्यक्ति को लगभग 30 सेकंड के लिए दोनों हथेलियों को रगड़ना पड़ता है और गर्मी कम होने तक इसे एक मिनट के लिए अपनी आंखों पर रखना पड़ता है। यह आपकी आंखों को खोलने के बाद उन्हें आराम प्रदान करने में मदद करता है। ध्यान रखें कि सीधे तेज रोशनी की ओर न देखें, इससे थोड़ी असुविधा हो सकती है। धीरे-धीरे अपनी आंखें खोलें और इसे कुछ समय दें ताकि धीरे-धीरे पर्यावरण और अपने परिवेश में बदलाव के अनुकूल हो सकें। इसके अलावा बिना नींद के पूरे दिन प्रभावी ढंग से काम करने के लिए अपनी आंख को आवश्यक आराम देने के लिए उचित नींद लें।

दृष्टि को मजबूत करने वाले भोजन का सेवन करें

खाना आपके शरीर को कार्य करने के लिए एनर्जी देने का प्रमुख स्रोत है। इसी तरह कई खाद्य पदार्थ आपकी आंख की दृष्टि को मजबूत करने और उसके अच्छे स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने में मदद करते हैं। दृष्टि को मजबूत करने वाली खाने की चीज़ों में ब्रोकली, पालक, गाजर सहित कई फल और सब्जियां शामिल हैं और शकरकंद को आपकी दृष्टि में सुधार के लिए आंखों की देखभाल के घरेलू उपचारों में गिना जा सकता है। इसके अलावा कम दृष्टि के शुरुआती लक्षणों से बचने के लिए अपने आहार में ओमेगा -3 फैटी एसिड युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें। न्यूट्रिएंट्स, विटामिन, मिनिरल्स और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन स्वाभाविक रूप से आंखों की समस्याओं और दृष्टि संबंधी समस्याओं के इलाज और रोकथाम में मदद करता है। कुछ खाद्य पदार्थ जैसे मछली, नट्स, बीज, खट्टे फल, गाजर, शकरकंद, बीफ, फलियां और पत्तेदार सब्जियां आंखों के लिए फायदेमंद पोषक तत्वों का एक अच्छा स्रोत हैं। 

धूप में जाते समय धूप का चश्मा पहनें

स्टाइल वाले चश्मे के अलावा धूप के चश्मे का भी एक बड़ा उपयोग होता है। धूप का चश्मा हमारी आंखों को हानिकारक यूवीए और यूवीबी किरणों से बचाने में हमारी मदद करता है। सूर्य की किरणों के सीधे संपर्क में आने से मैकुलर डिजेनरेशन और मोतियाबिंद सहित दृष्टि संबंधी कई समस्याएं होने का खतरा होता है। धूप में बाहर निकलते समय धूप का चश्मा लगाने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह यूवीए और यूवीबी किरणों के 99% को ब्लॉक करता है, इसलिए आपकी आंखों को जल्दी नुकसान से बचाता है। अगर आपके पास धूप का चश्मा नहीं है, तो अपनी आंखों को सीधे सूर्य की किरणों के संपर्क में आने से बचाने की कोशिश करें। 

गंदे हाथों से आंखों को छूने से बचें

Eye_Rubbing

बार-बार गंदे हाथों से अपनी आंखों को छूना आंखों में धूल और गंदगी होने का प्रमुख कारण है। यह एक और गंभीर समस्या पैदा कर सकता है जहाँ आपकी आंखें संक्रमण की चपेट में आ जाएंगी। हमेशा अपनी आंखों को छूने से पहले अपने हाथों को नियमित रूप से साफ करें। अपनी आंखों को जोर से न रगड़ें, नहीं तो इससे लालपन या सूजन आ जाएगी। किसी भी तरह की गंदगी या धूल के कण आंखों में जलन पैदा कर सकते हैं। जलन से छुटकारा पाने के लिए अपनी आंखों को एक स्टेराइल सलाइन सॉल्यूशन से धोएं।

अपने परिवार के नेत्र स्वास्थ्य इतिहास पर विचार करें 

आंखों की समस्या पैदा करने में जेनेटिक कारण प्रमुख भूमिका निभाते हैं। इसका मतलब यह है कि अगर परिवार में पहले किसी को आंखों की समस्या रही है, तो हो सकता है कि आपको भी यह समस्या हो। आंखों की कई बीमारियां जैसे ग्लूकोमा, रेटिनल डिजनरेशन, उम्र से संबंधित मैक्युलर डिजेनरेशन और ऑप्टिक एट्रॉफी जेनेटिक हैं और ये आपको भी हो सकते हैं। अपने परिवार के इतिहास को जानने से आवश्यक सावधानी बरतने में मदद मिलती है। अपनी आंखों की देखभाल करना सबसे महत्वपूर्ण आंखों की देखभाल के घरेलू उपचारों में से एक है जिसे जेनेटिक आंखों की समस्याओं से दूर किया जाना चाहिए। 

अच्छी नींद लें 

आपकी आंखों को पूरे दिन ठीक से काम करने के लिए अच्छी नींद बहुत जरूरी है। इसके अलावा नींद पूरी न होने से आंखों में अधिक तनाव और दर्द होता है। यह न केवल आपकी आंखों को आवश्यक आराम प्राप्त करने की अनुमति देता है बल्कि आपके शरीर को पूरी क्षमता से कार्य करने में भी सक्षम बनाता है। आंखों की तेज रोशनी और तनाव से राहत पाने के लिए आठ घंटे की नींद जरूरी है। यह आंखों की देखभाल के सबसे आसान घरेलू उपचारों में से एक है जो आंखों के दबाव को कम करने में मदद कर सकता है। नींद आपके शरीर को तनाव से मुक्त करने में मदद करती है, खासकर आंखों तक। विशेषज्ञों के अनुसार सोने से पहले दस मिनट ध्यान करने से आपको अच्छी नींद आती है।

गुलाब जल डालें

आंखों में जलन और लालपन से तुरंत छुटकारा पाने के लिए आपकी आंखों में गुलाब जल की ड्रॉप डालना सबसे प्रभावी आंखों की देखभाल के घरेलू उपचारों में से एक है। इसके अलावा गुलाब जल आपकी आंखों को फिर से जीवंत करने और काले घेरों को कम करने में मदद करता है। आंखों की जलन से तुरंत राहत पाने के लिए गुलाब जल की दो बूंद आंखों में डालें और आंखों को करीब एक मिनट के लिए बंद रखें। डार्क सर्कल होने पर रुई के फोहे को गुलाब जल में डुबोकर आंखों पर 10 से 15 मिनट के लिए रखें। काले घेरों से छुटकारा पाने के लिए इसे रोजाना करें।

कंप्यूटर के चश्मे का इस्तेमाल करें

कंप्यूटर के वर्तमान युग में लोगों को आंखों की समस्याओं की उच्च दर का सामना करना पड़ रहा है जैसे कि खराब दृष्टि, आंखों में दर्द और आंखें खोलने में कठिनाई। कंप्यूटर स्क्रीन के सामने बहुत ज़्यादा समय बिताने से ध्यान केंद्रित करना मुश्किल हो जाता है और आंखों में दर्द बढ़ जाता है। इससे हमारी आंखों को फोकस करने के लिए ज़्यादा मेहनत करनी पड़ती है और इसलिए आंखों को नुकसान पहुंचाता रहता है। अपनी आंखों को कंप्यूटर स्क्रीन पर देखने के हानिकारक परिणामों से बचाने के लिए किसी नेत्र विशेषज्ञ से अपने लिए एक अनुकूलित कंप्यूटर का चश्मा लें और उसका इस्तेमाल करें। यह निर्णायक है, उन लोगों के लिए जो सामान्य रूप से चश्मा या कॉन्टैक्ट लेंस पहनते हैं।

अपनी आंखों की धीरे-धीरे मालिश करें

जो लोग कंप्यूटर के सामने लंबे समय तक काम करते हैं, उनमें आंखों की समस्या होने का खतरा अधिक होता है। उन लोगों को अपनी आंखों की अतिरिक्त देखभाल करने और आंखों के दर्द, कम फोकस और अन्य समस्याओं से राहत पाने के लिए विभिन्न घरेलू उपचारों को आजमाने की जरूरत है। इस एक्सरसाइज़ में अंगूठे और इंडेक्स फिंगर से अपनी भौहें पकड़ना शामिल है।  अब अपनी आइब्रो को आइब्रो के ऊपर और अपनी इंडेक्स फिंगर को नीचे रखते हुए धीरे से दबाएं और सीधा करें। हल्का दबाव डालें और फिर अपना अंगूठा आई बॉल्स पर रखें और अपनी आंखों के सॉकेट के साथ रोल करें। आंखों के आसपास सर्कुलेशन में सुधार करने के लिए इस एक्सरसाइज़ को रिपीट करें।

निष्कर्ष – Nishkarsh

आंखों की समस्याएं मामूली से लेकर गंभीर तक हो सकती हैं। आंख की मामूली समस्या के मामले में आप लक्षणों को खराब होने से बचाने और गंभीर समस्या का कारण बनने के लिए विभिन्न आंखों की देखभाल के घरेलू उपचारों को आजमा सकते हैं।  

अपनी आंखों का इलाज कराने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने आंखों के डॉक्टर के पास जाएं और नियमित रूप से अपनी आंखों की जांच करवाएं। वह आपकी आंखों की बीमारी के इलाज के बेहतर तरीके का आकलन करने में सक्षम होंगे।

अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट eyemantra.in पर जाएँ। आई मंत्रा के साथ अपनी अपॉइंटमेंट बुक करने के लिए हमें +91-9711115191 पर कॉल करें या हमें eyemantra1@gmail.com पर मेल करें। हमारी अन्य सेवाओं में रेटिना सर्जरी, चश्मा हटाना, मोतियाबिंद सर्जरी आदि शामिल हैं। 

Make An Appointment

Free Tele-Consultation

Book Appointment or Video Consultation online with top eye doctors