लाल आंखों (रेड आइज़) के लिए घरेलू उपचार – Laal Aankhon (Red Eyes) Ke Liye Gharelu Upchar

Red eyes-its home remedies

लाल आंखें (रेड आइज़) क्या हैं? Laal Aankhein (Red Eyes) Kya Hain? 

आंख की सफेद सतह के लाल होने को लाल आंखें या रेड आइज़ (Red Eyes) कहते हैं। लाल आंखों को ब्लड शॉट आइज़ (Blood Shot Eyes) भी कहते हैं। लाल आंखों की समस्या एक या दोनों आंखों में हो सकती है, जिसके कई कारण हो सकते हैं। आंख की सफेद सतह और कंजक्टिवा के बीच की छोटी ब्लड वेसल्स के फैलाव से आंखें लाल और सूजी हुई दिखाई देती हैं। आमतौर पर लाल आंखों के कई लक्षण होते हैं, जैसे- एलर्जी, आंखों में थकान, कॉन्टैक्ट लेंस का ज्यादा इस्तेमाल या कंजक्टिवाइटिस। कई मामलों में आंखों में लालपन के अलावा कोई दूसरे लक्षण नहीं दिखते, जिससे इसका पता लगाना मुश्किल होता है।

लाल आंखों के कारण – Red Eyes Ke Karan

लाल आंखें या आंख आना आंखों की एक ऐसी स्थिति है, जिसमें कंजक्टिवा हिस्से के लाल होने से आंख में खुजली और जलन का अहसास होता है। लाल आंखें ब्लड वेसल्स में सूजन की वजह से होती है, जो आंख के सफेद हिस्से में लालपन का कारण बनती है। इसके लक्षणों में जलन, खुजली, आंख के सफेद हिस्से का लाल दिखना, आंखों से तरल पदार्थ निकलना और आंखों पर दबाव महसूस होना शामिल है।

जलन (Irritants)

आमतौर पर हवा में कई अवांछित कण मौजूद होते हैं, जो आंख की सतह के संपर्क में आ सकते हैं। इनसे आंखें लाल हो सकती हैं, जिसे आंख में जलन भी कहते हैं। वातावरण में मौजूद इरिटेंट्स से शुष्क हवा, खांसी, धूल, सर्दी और जीवाणु जैसे इंफेक्शन रक्त वाहिकाओं (Blood Vessels) में सूजन का कारण बन सकते हैं। 

आंखों में इंफेक्शन (Eye Infections) 

आंखों में इंफेक्शन भी आंखों का कारण है, जो आंखों में जलन और दर्द पैदा करके दृष्टि बदल सकता है।

कंजक्टिवाइटिस (Conjunctivitis)

कंजक्टिवाइटिस आंखों की एक गंभीर स्थिति है, जिसमें बैक्टीरियल या वायरल इंफेक्शन की वजह से आंखें लाल हो जाती हैं। आमतौर पर लाल आंखें एक-दो दिन में अपने आप ठीक हो जाती हैं। अगर लाल आंखों की समस्या लंबे समय तक बनी रहती है, तो आपको डॉक्टर से परामर्श की ज़रूरत होती है।

एलर्जी (Allergens)

हवा में पाये जाने वाले परागकणों के संपर्क में आने से कुछ लोगों की आंखें लाल हो जाती हैं। इसके अलावा मोल्ड की मौजूदगी भी लाल-आंख का कारण बनती है, जो एक सामान्य एलर्जेन है। कुछ लोगों को पालतू जानवरों की रूसी से भी एलर्जी होती है, जिससे लाल आंखों की समस्या हो सकती है।

यूवाइटिस (Uveitis)

यूविया आंखों का एक पिगमेंटेड भाग है, जिसमें सूजन आने से आंखें लाल हो सकती हैं और आइरिस के पास दर्द और लालपन हो सकता है।

लाल आंखों के लिए घरेलू उपचार – Red Eyes Ke Liye Gharelu Upchar

Home remedies for red-eye

1) गर्म सेक (Warm Compress)

तौलिये को गर्म पानी में भिगोकर पलकों पर रखने से जलन और लाल आंखों को कम किया जा सकता है। इस विधि में व्यक्ति को दस मिनट तक पलक पर गर्म पानी में भिगोकर रखी हुई तौलिए को रखना होता है। इसी प्रक्रिया को दूसरी आंख पर भी दोहराना होता है। गर्म वातावरण रखने से गर्म तौलिये से निकलने वाली गर्मी आंखों में मौजूद वेसल्स में खून के प्रवाह को बढ़ाने में मदद करती है। इसके अलावा यह पलक में मौजूद ग्रंथियों से निकलने वाले तेल को उत्तेजित करने में भी मदद करती है।

2) ठंडा सेक (Cold Compress)

ठंडा सेक गर्म सेक की उल्टी विधि है, जिसमें गर्म सेक विधि की जगह ठंडे पानी की उपचार विधि का इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए ज़्यादा ठंडे पानी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से लाल आंखों की समस्या और बढ़ सकती है। एक ठंडा सेक आंखों में खुजली और जलन को कम करने में मदद करता है, लेकिन ठंडे और गर्म दोनों सेक के लिए एक ताजा और साफ तौलिया का इस्तेमाल करना ज़रूरी है।

3) नेफ़ाज़ोलिन या टेट्राहाइड्रोज़ोलिन (Naphazoline or Tetrahydrozoline)

नाफाज़ोलिन या टेट्राहाइड्रोज़ोलिन युक्त दवाएं हल्की लाल आंखों के इलाज में मदद करती हैं। आई ड्रॉप में मौजूद ये घटक कंजेशन को कम करने और किसी भी जलन से आंखों को साफ करने में मदद करते हैं। यह किसी भी एलर्जी से होने वाली लाल आंखों का इलाज करने में भी मदद करते हैं।

4) लुब्रिकेंट आई ड्रॉप्स (Lubricant Eye Drops)

लुब्रिकेंट आई ड्रॉप्स लाल आंखों के इलाज में मदद करती हैं। अगर आंख में कोई इंफेक्शन है जिससे आंखें लाल होती हैं, तो आंखों में इंफेक्शन के इलाज के लिए डॉक्टर ग्लूकोमा ड्रॉप्स या एंटीबायोटिक ड्रॉप्स इस्तेमाल करने की सलाह दे सकते हैं। किसी भी व्यक्ति को इन दवाओं का सेवन उचित परामर्श के तहत ही करना चाहिए।

5) एंटीबायोटिक (Antibiotics)

एंटीबायोटिक लाल आंखों की सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसे उचित नुस्खे के तहत भी इस्तेमाल किया जा सकता है। कोलीनर्जिक दवाएं आंसुओं को उत्तेजित करने में मदद करती हैं, लेकिन इनका इस्तेमाल किसी नेत्र रोग विशेषज्ञ के निर्धारित करने पर ही किया जा सकता है। ऐसी दवाएं आंसुओं के निर्माण और आंखों में नमी की कमी से होने वाली लाल आंखों को कम करने में मदद करती हैं।

6) हेल्दी खाने की आदत डालें (Incorporate Healthy Eating Habits)

हेल्दी खाने की आदत से लाल आंखों पर भी सकारात्मक असर होता है। इस तरह लाल आंखों को प्राकृतिक रूप से ठीक किया जा सकता है। अनहाइड्रेटेड रहने से आंखों में जलन (Irritation) और खून की कमी (Bloodshot Eyes) हो सकती है, जिसे शरीर के तरल पदार्थ को बनाए रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर रोका जा सकता है।

7) अनप्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों का सेवन (Consume Unprocessed Foods)

प्रोसेस्ड फूड के ज़्यादा सेवन से आंखों में सूजन पैदा हो सकती है, इसलिए इससे बचने की सलाह दी जाती है। प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों के प्रभाव को कम करने के लिए ज़्यादा एंटी-इंफ्लेमेटरी खाद्य पदार्थ वाले उचित और स्वस्थ आहार बनाए रखें। 

8) ओमेगा -3 से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन (Consume Foods Rich In Omega-3)

लाल आंख वाले व्यक्ति को ओमेगा -3 का भरपूर सेवन करना चाहिए, क्योंकि इनसे आंखों की सूजन को कम करने में मदद मिलती है।

9) प्रदूषित स्थानों पर जानें से बचें (Avoid Polluted Places)

एलर्जी से हुई लाल आंख वाले व्यक्ति को ज़्यादा मात्रा में पराग, धुएं और शुष्क हवा वाले स्थानों पर जानें से बचना चाहिए।

10) कॉन्टैक्ट लेंस से बचें (Avoid Contact Lenses)

कुछ वक्त के लिए कॉन्टैक्ट लेंस के बजाय चश्मे का इस्तेमाल करके लाल आंखों को कम करने में मदद मिल सकती है। गंदे और अनहाइजीनिक कॉन्टैक्ट लेंस से आंखों में जलन और आंखें लाल सकती हैं। ऐसे में ज़रूरी है कि आप नियमित रूप से इस्तेमाल करने वाले कॉन्टैक्ट लेंस के लिए प्रोपर हाइजीनिक स्थिति बनाए रखें।

अगर घरेलू उपचार के एक हफ्ते बाद भी लक्षण नज़र आते हैं, तो आपको बेहतर इलाज के लिए नेत्र रोग विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए। हालांकि घरेलू नुस्खों से एक या दो हफ्ते में आंखों की लाली से राहत मिल सकती है। अगर आंख की स्थिति खराब होने पर आपको दृष्टि में मामूली कमी महसूस होती है, तो तुरंत अपने आंखों के डॉक्टर से संपर्क करें। आंखों के आसपास कोई पपड़ी, मवाद हो या रासायनिक संपर्क से आंख में चोट लगी है, तो घरेलू उपचार से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

लाल आंखों से कैसे बचें? Red Eyes Se Kaise Bachein?  

  • अगर किसी व्यक्ति की आंख में इंफेक्शन है, तो उसके संपर्क में आए दूसरे व्यक्ति को अपनी आंखें छूने से पहले हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए।
  • नियमित रूप से आंखों का मेकअप करने वाली महिलाओं को सोने से पहले मेकअप हटाना चाहिए, क्योंकि बचे मेकअप के अवशेष आंखों में लालपन पैदा कर सकते हैं।
  • ज़्यादा वक्त तक गंदे कॉन्टेक्ट लेंस पहनने से लाल आंखों की संभावना बढ़ जाती है, जिससे एक निश्चित वक्त के लिए साफ कॉन्टैक्ट लेंस पहनकर बचा जा सकता है।
  • स्क्रीन के सामने लंबे वक्त तक रहने से आंखें लाल हो सकती हैं और आंखों में सूजन आ सकती है। ऐसे में लंबे वक्त तक स्क्रीन से बचना चाहिए और आंखों पर तनाव को कम करने के लिए बीच-बीच में ब्रेक लेना चाहिए।
  • जिन लोगों में एलर्जी से लाल आंखों का खतरा होता है, उन्हें अतिरिक्त एलर्जी वाले परिवेश से बचना चाहिए।
  • आपको लंबे समय तक हाइड्रेटेड रहना चाहिए और शरीर के तरल पदार्थ को बनाए रखना चाहिए।
  • अगर आपकी आंख में कोई गंदगी है, तो इससे छुटकारा पाने के लिए आपको अपनी आंखों को पानी से अच्छी तरह धोना चाहिए।
  • आंखों को आराम देने के लिए पूरी नींद ज़रूरी है। रात में ठीक से नींद नहीं आने से आंखों में खुजली, लालपन और जलन हो सकती है।
Prevention of Red Eyes

लाल आंखें ज़्यादा गंभीर आंख की स्थिति नहीं हैं। मुख्य कारणों का पता हो, तो घर पर ही इसका इलाज किया जा सकता है। एलर्जी की वजह से जिन लोगों की आंखें लाल हो जाती हैं, उन्हें एलर्जी वाली जगहों पर रहने से बचना चाहिए। हाइड्रेटेड रहने, उचित नींद लेने और ठंडी या गर्म सेक से लाल आंखों की हल्की स्थिति को आसानी से ठीक किया जा सकता है। अगर लाल आंखों के लक्षण एक हफ्ते से ज़्यादा समय तक बने रहें या स्थिति ज़्यादा खराब हो, तो हमेशा कोई भी दवाई लेने से पहले एक नेत्र रोग विशेषज्ञ से परामर्श करने की सलाह दी जाती है।

निष्कर्ष – Nishkarsh

आपकी आंखों का इलाज का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने नेत्र देखभाल पेशेवर के पास जाएं और नियमित रूप से अपनी आंखों की जांच करवाएं। वह आपकी आंखों की बीमारी के इलाज के सर्वोत्तम तरीके का आंकलन करने में सक्षम होंगे।

लाल आंखों या कंजक्टिवाइटिस से जुड़ी किसी भी समस्या के समाधान के लिए हमारी वेबसाइट eyemantra.in पर विज़िट करें। आई मंत्रा में अपनी अपॉइंटमेंट बुक करने के लिए +91-9711115191 पर कॉल करें या हमें [email protected] पर मेल करें। हमारी अन्य सेवाओं में रेटिना सर्जरीचश्मा हटानालेसिक सर्जरीभेंगापनमोतियाबिंद सर्जरी और ग्लूकोमा सर्जरी सहित कई अन्य सेवाएं शामिल हैं। 

Make An Appointment

Free Tele-Consultation

Book Appointment or Video Consultation online with top eye doctors